Home » Forums Archives
Member Posts

उम्रें गुजर गयी हैं अधूरी दास्तां के साथ – By Tushar Srivastava (Kavitalay Member)

उम्रें गुजर गयी हैं अधूरी दास्तां के साथ, मिलती है क्या कभी ये जमीं आसमां के साथ| नजरों में बस गया था बिना नज़र आये ही आहिस्ता हुए गुम फिर अपने जान-ए-जां के साथ| जाना किधर है और कहां मंजिल पता नहीं, चलते ही जा रहे हो फिर भी क्यूँ जहां के साथ| मुर्दा हैं […]

Member Posts

सुनिए – Nazm – By Salil Saroj (Kavitalay Member)

सवाल किया है  तो जवाब भी सुनिए दबी आवाज़ों का इंक़लाब भी सुनिए| सिर्फ सिखाते ही मत रहिए बच्चों को उन की निगाहों का ख्वाब  भी सुनिए| कितना रोक सकेंगे नदी  को बाँधों में बलखाती पानी का रूबाब भी सुनिए| सब कुछ लिख डाला अमीरों के नाम एक दिन गरीब का अभाव भी सुनिए| मर्द […]

Member Posts

इल्ज़ाम वो, जिनकी कोई बुनियाद नहीं – Poem – By Gaurav Pareek “फागवी” (Kavitalay Member)

मुझपे हैं इल्ज़ाम वो, जिनकी कोई बुनियाद नहीं मामला है क्या, मुद्दा क्या है, कुछ भी तो याद नहीं| बेशक, अशरफियों की चमक ने मुगालते पाले हैं यकीन ख़ुद ओ’ इल्म पे है, हम भी बरबाद नहीं| भले ही हूर हैं, बाग़ में चहकती बुलबुल हैं वो फरिश्ते, बेशक ना हों, हम भी सय्याद नहीं| […]

Member Posts

किसी का खयाल तुम्हारे जेहन में जब ठहरने लगे – Poem – By Tushar Srivastava (Kavitalay Member)

किसी का खयाल तुम्हारे जेहन में जब ठहरने लगे कहो ये दिल से उसी दिन से वो सम्भलने लगे। वो एक शख्स जो सामने हो तो खुश होऊँ मैं अश्क आ जाएं गर सपनों में भी बिछड़ने लगे। अभी देखा ही कहाँ उसका हुनर तुमने ऐ लोगों वो जरा जुल्फें गिरा दे तो शाम ढलने […]