Home » Forums Archives
Member Posts

ओ मेरे मन के मीत – Kavita – By Om Neelamber (Kavitalay Member)

ओ मेरे मन के मीत सुनाओ दर्द भरे गीत टूट रहा है बांध मेरे सब्र का मिट रहा है चिन्ह यादों के कब्र का अतीत हो गया है मेरे खुशी का मेला तनहाई के पलों में नितांत हूं अकेला बोल,अपने जुबां को खोल अब और न सता,बता मेरी खता कहा है तू, क्या है तेरा […]

Member Posts

रे बदरा लेकर आ सन्देश – Prem Geet – By Pt Utkarsh Chaturvedi (Kavitalay Member)

प्रेम गीत (श्रृंगार रस) आँखें क्यों सटती नहीं लगतें पलक ना रात। क्यों साजन कि चिंता लगी, जानें क्या है बात! वैसे तो साजन हैं हमारें, एक लाखों में एक रे बदरा लेकर आ सन्देश, रे जा जा लेकर आ संदेश..। कर्म बनें तो सब बने खेत बारी खलिहान देख ज़रा तू मुझे बता दें, […]